47 जम्मू-कश्मीर के छात्रों को लेकर बस रवाना छात्रों ने कहा शुक्रिया


 
-

 
  



 
 
         जबलपुर |   जबलपुर शहर में रहकर पढ़ाई करने वाले जम्मू-कश्मीर के छात्रों के लिए 9 मई की शाम एक खुशनुमा यादगार शाम बन गई। जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की पहल पर जम्मू-कश्मीर के 25 छात्रों को लेकर सूत्र सेवा की 52 सीटर बस जबलपुर के अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल से रवाना हुई। दरअसल लॉकडाउन की वजह से शहर में फंसे इन छात्रों के भोजन-राशन की पूरी मदद जिला प्रशासन द्वारा की जा रही थी। रहने-खाने की तमाम सुविधाओं के बाद ज्यों-ज्यों लॉकडाउन की अवधि बढ़ी इन छात्रों को अपने घर, माता-पिता एवं भाई-बहनों की याद सताने लगी।
         जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के 11 छात्रों के लिए भोजन-राशन का बेहतरीन प्रबंध कराने से वे सभी पहले से ही जबलपुर कलेक्टर भरत यादव और जिला प्रशासन के मुरीद बन गये थे।  लेकिन अब जब उनके घर जाने की व्यवस्था मध्यप्रदेश सरकार द्वारा कर दी गई तो बस में बैठकर घर जाते समय सभी छात्रों ने समवेत स्वर में कहा शुक्रिया मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान। जिनकी बदौलत हम सब अपने घरों को जा पा रहे हैं।  जम्मू-कश्मीर के छात्र मोहम्मद एजाज खान जो जबलपुर में रहकर निजी कॉलेज से इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे थे। उन्होंने कहा जब से लॉकडाउन शुरू हुआ तभी से घर जाने का प्रयास कर रहा था। लेकिन जिला प्रशासन और मध्यप्रदेश सरकार की मदद से अंतत: उन्हें घर जाने का मौका मिला।  छात्र फरहाद मलिक और श्रवण कुमार के चेहरों में घर जाने की खुशी साफ झलक रही थी।  इन दोनों ने कहा कि पूरे देश में मामाजी के नाम से पहचाने जाने वाले मुख्यमंत्री श्री चौहान साब ने हम लोगों को घर भेजने का इंतजाम कर सही मायने में मामा का रिश्ता निभाया है। वहीं राहुल शर्मा और छतरपुर से आये छात्र अकीब अहमद ने भी इंतजामों की सराहना की।
         जबलपुर से जम्मू-कश्मीर के लिए 9 मई को रवाना हुई सूत्र सेवा की बस में 25 छात्र रवाना हुए।  बस जबलपुर के दीनदयाल चौक स्थित अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल से जम्मू-कश्मीर के लिए रवाना हुई। बस से जम्मू-कश्मीर के जबलपुर में अध्ययनरत 12 छात्र, रीवा के 5 विद्यार्थी, छतरपुर के एक और छिंदवाड़ा जिले के तीन छात्रों के अलावा 2 पुरूष, एक महिला व एक बच्चा भी सवार था। 21 छात्रों के अलावा ये 4 लोग लॉकडाउन के पहले दिल्ली से यहां आये थे और जबलपुर में फँसकर रह गये थे।  इस तरह कुल 25 लोग जबलपुर से 52 सीटर नई बस द्वारा रवाना हुए।  बस में एल.ई.डी., सी.सी.टी.व्ही. कैमरे सहित आरामदायक सीटों की व्यवस्था थी।  घर पहुंचने और अपनों से मिलने के जज्बात से लबरेज छात्र काफी खुश थे।

BREAKING NEWS