392 तालिबान के सर्वोच्च नेता मुल्ला हबीबुल्लाह अखुंदजादा सरकार के संरक्षक-- मोहम्मद हसन अखुंद प्रधानमंत्री और अब्दुल गनी बरादर बने डिप्टी PM,33 मंत्रियों में से ज्यादातर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंधितों की लिस्ट में शामिल,मोस्ट वॉन्टेड आतंकी गृह मंत्री,अफगानिस्तान में तालिबान की केयरटेकर कैबिनेट का गठन - CRIME BHASKAR NEWS.COM EDITOR-UMESH SHUKLA


 CRIME BHASKAR NEWS.COM EDITOR-UMESH SHUKLA

  
 07.09.2021
 नई दिल्ली|   तालिबान के सर्वोच्च नेता मुल्ला हबीबुल्लाह अखुंदजादा सरकार के संरक्षक होंगे और राजनीतिक, धार्मिक व सुरक्षा मामलों में उनका फैसला अंतिम होगा। विशेषज्ञों का मानना है कि तालिबान ने सरकार का यह मॉडल ईरान से लिया है। ईरान में भी एक सर्वोच्च नेता होता है और पूरी सरकार का नियंत्रण उसके हाथों में ही होता है। सर्वोच्च नेता के तहत ही राष्ट्रपति सरकार चलाता है। प्रधानमंत्री अखुंद  और उप प्रधानमंत्री अब्दुल गनी बरादर समेत अंतरिम सरकार के 33 मंत्रियों में से ज्यादातर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की प्रतिबंधितों की लिस्ट में शामिल हैं।

मोस्ट वॉन्टेड आतंकी गृह मंत्री-  हक्कानी अमेरिकी एजेंसी FBI की मोस्ट वॉन्टेड अतंकियों की लिस्ट में शामिल है और उसके सिर पर एक अरब अमेरिकी डॉलर का इनाम भी है। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के तीन सप्ताह के बाद  वहां अंतरिम सरकार का गठन हो गया है और यह देश अब आधिकारिक तौर 'इस्लामिक अमीरात ऑफ अफगानिस्तान' बन गया है। अब्दुल गनी बरादर के अलावा मुल्ला अब्दुल सलाम हनफी को भी उप-प्रधानमंत्री बनाया गया है। तालिबान की सरकार में आतंकी संगठन हक्कानी नेटवर्क के मुखिया सिराजुद्दीन हक्कानी को आंतरिक मामलों का मंत्री यानी गृह मंत्री बनाया गया है।तालिबान की अंतरिम सरकार में मुल्ला मोहम्मद हसन अखुंद को प्रधानमंत्री बनाया गया है। पिछले दो दशकों से शूरा (लीडरशिप काउंसिल) का नेतृत्व कर रहे  मुल्ला हसन अखुंद तालिबान की पिछली सरकार में भी गवर्नर और मंत्री रह चुके हैं।

BREAKING NEWS