329 UK में 11 से 13 जून को होने वाले G-7 लीडर्स समिट में पर्यावरण को लेकर गंभीर चर्चा, चेतावनी- अगले साल में धरती और गर्म हो सकती ,इसे तबाही कहेंगे क्या: WMO- व मौसम विज्ञानी लियो हर्मेन्सन crime bhaskar news.com-editor umesh shukla


crime bhaskar news.com-editor umesh shukla 30-2021-05-
जेनेवा UK|यूनाइटेड किंगडम के मौसम विज्ञानी लियो हर्मेन्सन ने कहा कि तापमान में दोगुनी वृद्धि का मतलब है टेक्नोलॉजी का बदलना. यानी ऐसी तकनीकी जो बदल तो रही है |ऐसा माना जा रहा है कि यूके में 11 से 13 जून को होने वाले G-7 लीडर्स समिट में पर्यावरण को लेकर गंभीर चर्चा होने वाली है. क्योंकि दुनिया के कुछ बड़े देश इस साल के लिए WMO की भविष्यवाणी ये है कि धरती के उत्तरी गोलार्ध पर मौजूद देशों का तापमान  बढ़ेगा. ये तापमान पिछले कुछ दशकों से ज्या वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि अगले पांच साल में धरती का तापमान 40 फीसदी बढ़ सकता है
               ने सेक्रेटरी जरनल प्रोफेसर पेटेरी टालस   .WMOने कहा कि ये सिर्फ आंकड़ें नहीं है. ये उससे कहीं ज्यादा है. लगातार बढ़ रहे तापमान की वजह से बर्फ पिघल रही है,पे इस मामले . पेंसिलवेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी के पर्यावरण वैज्ञानिक माइकल मान ने कहा कि ये बात तो सच है कि दुनिया पेरिस में हुए समझौते को पूरा नहीं कर पाएगी. समझौ इससे गर्मी के पिछले सारे रिकॉर्ड टूट जाएंगे. साथ ही पेरिस पर्या...  विश्व मौसम विज्ञान संगठन ने अगले पांच सालों में दुनियाभर में होने वाले मौसमी परिवर्तन की भविष्यवाणी की है. 
                           टेरी टालस ने बताया कि WMO में शामिल 199 देशों में से सिर्फ आधे के पास ही आपदाओं की जानकारी देने वाली प्रणाली है.पेटेरी टालस ने कहा कि यह बेहद साइंटिफिक और तथ्य आधारित स्टडी है. यह सिर्फ भविष्यवाणी नहीं है कि खराब मौसम आएगा और चला जाएगा. यह पूरी धरती पर असर डालेग...  यानी अर्ली वॉर्निंग सिस्टम. देशों क समुद पनी रिपोर्ट में बताया है कि अगले पांच सालों में से किसी एक साल का तापमान औद्योगिक काल की तुलना में   सेल्सियस ज्यादा रहेगा.

BREAKING NEWS