323 कोविड-19 के टीके और खुराक के साथ कोवैक्सीन का उत्पादन जीएमपी संयंत्रों में कोवैक्सीन की 20 करोड़ खुराक प्रतिवर्ष उत्पादन की योजना वार्षिक उत्पादन एक अरब खुराक तक पहुंच जाएगा:भारत बायोटेक-(crime bhaskar news. com -Editor Umesh Shukla)


-(crime bhaskar news. com -Editor Umesh Shukla)

           नई दिल्ली| भारत बायोटेक की 100 प्रतिशत स्वामित्व वाली अनुषंगी शिरोन बेहरिंग वैक्सीन्स दुनिया में रेबीज के टीके के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है। हैदराबाद की कंपनी ने कहा कि वह अपने पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक शिरोन बेहरिंग वैक्सीन्स के अंकलेश्वर स्थित उत्पादन संयंत्र का इस्तेमाल कोवैक्सीन की और 20 करोड़ खुराक का निर्माण करने के लिए करेगी। भारत बायोटेक ने गुरुवार को कहा कि वह अपनी सहायक कंपनी के गुजरात के अंकलेश्वर स्थित संयंत्र में कोविड-19 के टीके कोवैक्सीन की और 20 करोड़ खुराक का उत्पादन करेगी। इसके साथ कंपनी का कुल वार्षिक उत्पादन एक अरब खुराक तक पहुंच जाएगा। 

             कंपनी ने कहा कि अंकलेश्वर संयंत्र में साल की आखिरी तिमाही में कोवैक्सीन का उत्पादन शुरू हो जाएगा। कंपनी ने कहा कि वह पहले ही अपने हैदराबाद और बेंगलुरु परिसरों में टीके के लिए कई उत्पादन लाइनें तैनात कर चुकी है। भारत बायोटेक ने एक बयान में कहा, कंपनी की जीएमपी संयंत्रों में कोवैक्सीन की 20 करोड़ खुराक प्रति वर्ष उत्पादन की योजना है। इन संयंत्रों में जीएमपी (अच्छे निर्माण तरीके) और जैवसुरक्षा के कड़े मानकों के तहत पहले से ही इनएक्टिवेटेड वेरो सेल प्लेटफॉर्म टेक्नोलॉजी पर आधारित टीकों के उत्पादन का काम जारी है।’


BREAKING NEWS