322 यह लागू करने में मुश्किल के अलावा भ्रम को बढ़ाएगा,भारत में वैक्सीन की दोनों डोज के बाद भी मास्क जरूरी,अमेरिकी दावों पर विशेषज्ञों ने उठाए सवाल.स्वास्थ्य एजेंसियां ​​​​अक्सर CDC से सलाह लेती:वैज्ञानिक-(crime bhaskar news.com-Editor Umesh Shukla)


     -(crime bhaskar news.com-Editor Umesh Shukla)

,भारत |दुनिया भर में स्वास्थ्य एजेंसियां ​​​​अक्सर सीडीसी से अपना सलाह लेती हैं, नवीनतम गाइडलाइन्स पर सवाल उठाए हैं।सीडीसी ने कहा कि अमेरिका में पूरी तरह से टीकाकरण वाले लोगों को अब मास्क पहनने की आवश्यकता नहीं है। सीडीसी एडवाइजरी केवल अमेरिकी जनता के लिए है, और वह भी कुछ शर्तों के साथ। उदाहरण के लिए, शिक्षकों और छात्रों को स्कूलों में मास्क लगाना जारी रखने के लिए कहा गया है। साथ ही, टीका लगाए गए लोगों को भीड़-भाड़ वाली स्थितियों, उड़ानों में या स्वास्थ्य सुविधाओं का दौरा करते समय मास्क पहनने की सलाह दी गई है।अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोक थाम केंद्र (सीडीसी) ने 13 मई को एक सलाह जारी की, जिसने वैज्ञानिक  सहित कई लोगों को आश्चर्यचकित कर दिया। 

 अमेरिका में पिछले कुछ महीनों से नए मामलों और मौतों में लगातार गिरावट देखी जा रही है। हालांकि अभी भी लगभग 30,000 नए मामले सामने आ रहे हैं। हर दिन 600 से अधिक मौतें हो रही हैं। इसका एक कारण अधिक से अधिक लोगों के टीकाकरण हो सकता है। पिछले सप्ताह तक 12 करोड़ से अधिक लोगों या अमेरिकी आबादी के करीब एक तिहाई लोगों को टीका लगाया गया था।

                   अमेरिका में फाइजर-बायोएनटेक और मॉडर्ना द्वारा विकसित टीकों का उपयोग हो रहा है। इसके अलावा जॉनसन एंड जॉनसन की एकल खुराक वाली वैक्सीन भी लोगों को दी जा रही है। अध्ययनों ने उन लोगों में संक्रमण के बहुत कम मामलों को दिखाया है जिन्होंने पहले दो टीकों की दोनों खुराक या J&J के टीके की एकल खुराक ली है। इसके बावजूद सीडीसी की सलाह को लेकर बहुत संदेह है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह लागू करने में मुश्किल होने के अलावा भ्रम को बढ़ाएगा। आखिर कौन जांच करेगा कि किसी नकाबपोश व्यक्ति को टीका लगाया गया है या नहीं?

सीडीसी ने कहा कि उसका नया मार्गदर्शन उन अध्ययनों के सबूतों पर आधारित था, जिनसे पता चलता है कि टीके लेने के बाद बहुत कम लोग संक्रमित हुए थे। बीमारी को दूसरों तक पहुंचाने की उनकी क्षमता और भी दुर्लभ थी। लेकिन हर कोई इस सलाह आश्वस्त नहीं है।  आपको बता दें कि टीके की सभी खुराक लेने के दो सप्ताह बाद लोगों का टीकाकरण पूर्ण माना जाता है।

BREAKING NEWS