239 जल्द हो सकता है बड़ा बदलाव वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में:ICC क्या सोच रहा(Crime Bhaskar News.Com-Umesh Shukla)


(Crime Bhaskar News.Com-Umesh Shukla)

                              डब्ल्यूटीसी के अनुसार शीर्ष रैंकिंग वाली प्रत्येक नौ टीमें दो साल में छह सीरीज खेलती हैं और प्रत्येक सीरीज में अधिकतम 120 प्वॉइंट्स दांव पर लगे होते हैं। ईएसपीएनक्रिकइंफो की रिपोर्ट के अनुसार आईसीसी की क्रिकेट समिति ने पहले टूर्नामेंट के लिए इस विकल्प पर विचार किया है लेकिन अंतिम फैसला इस हफ्ते मुख्य कार्यकारियों की समिति करेगी। शीर्ष दो टीमें अगले साल जून में लार्ड्स पर होने वाले फाइनल में जगह बनाएंगी। नए प्रस्ताव के अनुसार अगर भारत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सभी चार टेस्ट गंवा देता है और इंग्लैंड के खिलाफ सभी पांच टेस्ट जीत लेता है तो उसके 480 यानी 66.67 प्वॉइंट्स हो जाएंगे।भारत अगर इंग्लैंड के खिलाफ पांचों टेस्ट जीतता है और ऑस्ट्रेलिया से 1-3 से हार जाता है जो उसके 510 या 70.83 प्रतिशत प्वॉइंट्स होंगे जो न्यूजीलैंड के अधिकतम संभव प्रतिशत से कुछ अधिक होगा। भारत अगर इंग्लैंड को 5-0 से हराता है और ऑस्ट्रेलिया से 0-2 से हार जाता है तो उसके 500 प्वॉइंट्स या 69.44 प्रतिशत प्वॉइंट्स होंगे। इसका मतलब हुआ कि अगर न्यूजीलैंड स्वदेश में 240 प्वॉइंट्स हासिल कर लेता है तो आस्ट्रेलिया में दो ड्रॉ भी भारत के लिए पर्याप्त नहीं होंगे।अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) कोविड-19 महामारी से प्रभावित पहली विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में जगह बनाने वाली टीमों का फैसला उन्होंने जितने मैचों में हिस्सा लिया है उनमें मिले प्वॉइंट्स के प्रतिशत के आधार पर करने पर विचार करेगा। 

आईसीसी की साल की अंतिम तिमाही बैठक सोमवार से शुरू होगी। रिपोर्ट में कहा गया है कि समिति ने महामारी के कारण नहीं खेले गए मैचों को ड्रॉ मानने और प्वॉइंट्स बांटने के विकल्प पर भी विचार किया लेकिन इसे खारिज कर दिया गया। रिपोर्ट के अनुसार, ''विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) के फाइनल में जगह बनाने वाली टीमों का फैसला उनके द्वारा खेले मैचों से मिले प्वॉइंट्स के प्रतिशत के आधार पर किया जा सकता है।''

BREAKING NEWS