230 राम मंदिर का राजीव गांधी ने 1985 में खुलवाए ताले, किसी और को क्रेडिट मिलना गलत,बरसों से टाट और टेंट के नीचे रहे रामलला के लिए भव्य मंदिर का निर्माण होगा: म.प्र.के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ


 


crime bhaskar news.com-umesh shukla 

  

  अयोध्या में भगवान राम के भव्य मंदिर के लिए बुधवार को पीएम मोदी ने भूमि पूजन किया. भूमि पूजन के दौरान पीएम मोदी ने राम मंदिर के निर्माण के लिए आधारशिला रखी. भूमि पूजन कार्यक्रम के बाद पीएम मोदी ने कार्यक्रम को संबोधित किया. पीएम मोदी ने अपना संबोधन जय सिया राम के नारे के साथ शुरू किया. पीएम मोदी ने पूरे विश्व के रामभक्तों को कोटि-कोटि बधाई दी. 

मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कमल नाथ ने अपने निवास पर राम दरबार का आयोजन किया. पीएम मोदी ने कहा, 'ये मेरा सौभाग्य है कि श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने मुझे आमंत्रित किया, इस ऐतिहासिक पल का साक्षी बनने का अवसर दिया. मैं इसके लिए हृदय पूर्वक श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट का आभार व्यक्त करता हूं.सदियों का इंतजार आज समाप्त हो रहा है.'अयोध्या में आज राम मंदिर का भूमि पूजन हुआ और इस मौके पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कमलनाथ ने अपने निवास पर राम दरबार का आयोजन किया. 

कमलनाथ ने कहा, 'आज देश में ऐतिहासिक दिन है. हर भारतीय चाहता था कि राम मंदिर का निर्माण शुरू हो.  राजीव गांधी ने साल 1985 में सबसे पहली बार ताले खुलवाए. उन्होंने साल 1989 में कहा कि राम राज्य आएगा और राम मंदिर बनना चाहिए.' कमलनाथ ने कहा कि अगर कोई और इसका क्रेडिट लेने की कोशिश कर रहा है तो ये गलत है. बरसों से टाट और टेंट के नीचे रह रहे हमारे रामलला के लिए अब एक भव्य मंदिर का निर्माण होगा. टूटना और फिर उठ खड़ा होना, सदियों से चल रहे इस व्यतिक्रम से रामजन्मभूमि आज मुक्त हो गई है. पूरा देश रोमांचित है, हर मन दीपमय है. 

Sliderfront